बीजेपी पार्टी के इस नेता की इस तरह हुई मौत। उनकी मौत से राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी हो गए दुखी। जानिए कोण है ये नेता ?

ગુજરાતી જમાવટ નું ફેસબુક પેઈજ લાઇક કર્યું ?

लोकसभा  चुनाव में भाजपा को दूसरी बार बहुमत मिला है।  ये जित सिर्फ मोदी जी की नहीं लेकिन पार्टी साथ जुड़े  हुए सभी लोगो की है और साथ ही साथ ये जित आम  जनता की है जिन्होंने  भाजपा को बहुमत दिलाया। चुनाव के बाद मोदी जी ने शपथ ली थी।  नयी  सरकार बन  जाने के बाद   संसद का पहला सत्र शरू हुआ और सभी  नए सांसदों ने  अपने पथ की  शपथ ली और दुस्र्रे दिन  एक  ऐसी घटनाघटी जिसके वजसे भाजपा को बहुत दुःख हुआ।   राजस्थान के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष मदन लाल सैनी के निधन की खबर आते ही  ससंद की कार्य वाही को रोक दिआ.दिग्गज नेता के मोत हो जाने की खबर से सभी दुखी है |

कौन हैं ये नेता जिनकी मोत की खबर  सुनते  नरेंद्र मोदी को भी  दुख हुआ।मदनलाल की मृत्यु  की  खबर  सुनते राजनीति से   जुड़े  सभी  लोंगो ने  उनकी मृत्यु दुःख  जताया।  यहाँ तक की  भारत के राष्ट्रपति ने भी दुख व्यक्त किया और राजनाथ सिंह और अमित शाह  उनके अंतिम दर्शन  की उनके घर पोहचे।

75 साल की लंबी उम्र के  बाद  उनकी बीमारी से  मोत हुए , उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में अपनी अंतिम सांस ली। कुछ दिन पहले ही वसुंधरा राज उनसे मिलने गई थीं।मदनलाला राज्यसभा के सदस्य थे और उन्होंने राजस्थान के  लोगों के लिए अपना जीवन समर्पित किया, उन्होंने हमेशा भाजपा पार्टी के अध्यक्ष के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाई  और  यहाँ तक  लोंगो की सभी समश्याओ का हल निकाला।

राष्ट्रपति और नरेंद्रमोदी ने भी उनकी मृत्यु पर दुख व्यक्त किया। बीजेपी ने एक राज नेता नहीं बल्कि  एक युग का अंत हुआ है क्युकी  उन्होंने भाजपा पार्टी के लिए कई कार्य किए सबसे ज्यादा दुःख  राजस्थान की  जनता को  लोगों को  जब मदनजी की मृत्यु समाचार उन लोगो को मिली।मदन ने पिछले साल जून में राजस्थान के भाजपा अध्यक्ष के पद को स्वीकार किया और  उनकी कड़ी महेनत  से  लोकसभा के चुनावों में भाजपा राजस्थान में सभी सीटें मिली । उनके कुशल कार्य के कारण उन्हें यह पद दिया गया और वे हमेशा वसुंधरा राजे के करीब रहे है।

मदनजी सैनी जनसंघ के बाद से राजनीति में सक्रिय  हुए  और 1952 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक मंत्री के रूप में शामिल हुए और इसके बाद एबीवीपी के राज्य मंत्री बने और 1990 में उदयपुर विधानसभा के विधायक रहे , फिर अंत में भाजपा पार्टी के अध्यक्ष बने इस तरह राजनीति में उनक  सफर यादगार रहा है |

Comments

comments

ગુજરાતી જમાવટ નું ફેસબુક પેઈજ લાઇક કર્યું ?


આ લેખ ગમ્યો હોય તો તમારા મિત્રો સાથે જરૂર Share કરજો..!!